Hit Counter 0004111899 Since: 15-03-2011

Photo Gallery

click to view photo gallery

view photo gallery

Telephone NUMBERS

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Innovative Work

Print

महात्‍मा गांधी राष्‍टीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अन्‍तर्गत कि‍या गया अभि‍नव प्रयोग
जनपद अल्‍मोडा

प्रथम चरण वर्ष 2009.10

अल्‍मोडा जनपद में महात्‍मा गांधी राष्‍टीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अन्‍तर्गत वर्ष 2009.10 में अभि‍नव प्रयास कि‍या गया | जि‍सके अन्‍तर्गत कोसी नदी में लगभग 10 कि‍मी0 के क्षेत्र में वायरक्रेट द्वारा नि‍र्मि‍त चैक डैमों का र्नि‍माण कि‍या गया | इन चैक डैमों के र्नि‍माण के नि‍म्‍न उद़देश्‍य थे |

1.     ग्राम वासि‍यों हेतु महात्‍मागांधी रा0ग्रा0रो0गा0यो0 के अन्‍तर्गत रोजगार के अवसरों का स़जन |
2.     गर्मि‍यों में वर्षो से अल्‍मोडा शहर में होने वाली पीने के पानी की समस्‍या का समाधान करना |
3.     जल के भण्‍डारण लगभग 6 करोड लीटर के फलस्‍वरूप भूमि‍गत जल का रि‍चार्ज करना |
4.     पर्यटन के द़ष्‍टि‍कोण से पर्यटनस्‍थल का र्नि‍माण| देवस्‍थल
5.     भण्‍डारि‍त\संचयि‍त जल में मत्‍स्‍य पालन कर सम्‍बन्‍धि‍त ग्राम सभा के लि‍ए आय का स़जन करना |
6.     पर्यटकों हेतु मत्‍स्‍य आखेट के अवसर उत्‍पन्‍न करना |
7.     शमशान घाटों हेतु पानी की समस्‍या का समाधान |
8.     सि‍चाई वि‍भाग द्वारा नि‍मित हाईडमों के समीप जल संचय कर सि‍चाई हेतु पाली उपलब्‍ध कराना | (मनान, पातलीबगड)
9.     चारा एवं लकडी लाने के लि‍ए कोसी के आर पार जाने हेतु ग्रामीणों के लि‍ए अस्‍थाई पुल का र्नि‍माण |
10.    जल संचय से वि‍लुप्‍त प्राय पक्षि‍यों (white Brested Kingfisher, Lessor Fish Eagle, Brown Fish Owl, Common King Fisher,
               Osprey) को पुन कोसी नदी में बने जल संचय चैक डैमों से पुनर्वास में सहायक होगा |

स्‍थान

1.   मनान 2.   पातलीबगड 3.   महतगांव प्रथम स्‍थान 4.   महतगांव द्वि‍तीय स्‍थान
5.   कटारमल   6.   ग्‍वालाकोट 7.   वि‍मोला \ कोसी नदी में   8.   कोसी में पम्‍पग़ह के पास

Devsthal

Gwalkot
Pathariyamanan MehatGaon
Kosli  

उक्‍त चैक डैमों के र्नि‍माण से प्रत्‍यक्ष या अप्रत्‍यक्ष रूप से लाभ मि‍ला | जहां एक ओर ग्राम सभाओं में रोजगार के नये अवसर उत्‍पन्‍न कराये गये वहीं दूसरी ओर अल्‍मोडा शहर के वर्षो से गर्मि‍यों में पीने के पानी की समस्‍या का समाधान हुआ | पूर्व में यह मंशा थी कि‍ गमियों में यदि‍ अत्‍यधि‍क पीने के पानी की समस्‍या होती है तो इन 8 चैक डैमों में संचयि‍त पानी लगभग 6 करोड लीटर पानी को एक एक कर छोडा जायेगा | जो कि‍ लगभग 15.20 दि‍नों की समस्‍या के समाधान हेतु पर्याप्‍त था | लेकि‍न जल के संचयन के फलस्‍वरूप तथा भूमि‍गत जल के रि‍चार्ज होने के कारण नदी के जल स्‍तर में कमी नहीं आई परि‍णाम स्‍वरूप अल्‍मोडा शहर को लगातार पीने का पानी उपलब्‍ध होता रहा| साथ ही पूर्व में वर्णि‍त उद़देश्‍यों की प्राप्‍ति‍ भी हुई |

द्वि‍तीय चरण वर्ष 2010.11

महात्‍मा गांधी राष्‍टीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना के अन्‍तर्गत नि‍मित चैक डैमों के र्नि‍माण के फलस्‍वरूप मि‍ले अप्रत्‍याशि‍त परि‍णाम को द़ष्‍टि‍कोण में रखते हुए वर्ष 2010.11 में जनपद में कोसी के अति‍रि‍क्‍त कोसी की सहायक नालों बसौली नाला, दौलाघट नाला तथा गगास नदी एवं पेटशाल में चैक डैमों के र्नि‍माण का र्नि‍णय लि‍या गया है | इन स्‍थानों में चैक डैमों के र्नि‍माण प्रारम्‍भ करने के पीछे पूर्व में वणित उद़देश्‍यों के अति‍रि‍क्‍त नि‍म्‍न उद़देश्‍य है |

              रानीखेत शहर भी अल्‍मोडा शहर की भांति‍ वर्षो से गर्मि‍यों में पीने के पानी की समस्‍या से जूझता रहा है इसी समस्‍या को द़ष्‍टि‍कोण में रखते हुए गगास नदी पर जल नि‍गम के पम्‍पग़ह के अपस्‍टीम में छाना गोलू ग्राम पंचायत की सीमा के 4 स्‍थानों में वायरक्रेट द्वारा नि‍र्मि‍त चैक डैमों के र्नि‍माण का र्नि‍णय लि‍या गया है | 4 स्‍थानों में चैक डैमों के र्नि‍माण से लगभग 3 कि‍मी0 की लम्‍बाई में जल संचयन हो पायेगा |
              आशा है इन र्नि‍माणों से जहां कोसी नदी के जल स्‍तर को बढाने में सहायक होंगी वहीं दूसरी ओर गगास नदी पर 3 कि‍मी0 की लम्‍बाई में जल संचयन से रानीखेत के पीने के पानी की समस्‍या के समाधान में सफल होंगे |

Source : District Administration-Almora, Uttarakhand, Last Updated on 16-08-2017